करोड़पति बनने के लिए यहाँ निवेश करें

आप बड़े ही मेहनत से पैसे कमाते है और अगर आप अपने पैसे को कही इन्वेस्ट करना चाहते है और आप चाहते है की आपका पैसे आपको एक बढ़िया रिटर्न दे तो आज आपको बताने वाले है की आप अपना पैसा कहा निवेश करे ताकि आपको अच्छा रिटर्न मिले।

बचत पर जयादा रिटर्न मिलना उसक लच्छ हो जाता है और जल्द उसे पूरा करना भी होता है ऐसे में कोरोना संकट के बीच बैंकों ने कैची चला दी है। पिछले कुछ सालो में सेविंग और फिक्स्ड डिपाजिट के ब्याज दरों में कटौती देखने को मिली है। कोरोना संकट के कारन ग्राहकों को सरकारी बैंकों से लेकर प्राइवेट बैंकों ने झटका दिया है। बैंको का ब्याज दर का ग्राफ देख कर अब ग्राहकों को फिक्स्ड डिपाजिट से मोह भांग होने लगा है। चुकी अब शार्ट टर्म और सेविंग अकाउंट पर लगभग बराबर ब्याज मिल रहा है। ऐसे में लोग या तो सेविंग अकॉउंट में पैसे रख रहे है या फिर दूसरा बिकल्प तलाश रहे है।

आपको पहले ये बता दे की आपको बैंक अभी सेविंग अकॉउंट पर कितना ब्याज दे रहे है। स्टेट बैंक फ़िलहाल सेविंग अकॉउंट पर 2.7प्रतिसत ब्याज दे रहा है। जबकि एक साल की फिक्स्ड डिपाजिट पर 5 प्रतिसत ब्याज दे रहा है। आईसीआईसीआई बैंक सेविंग अकॉउंट पर 3% ब्याज दे रहा है जबकि एक साल की फिक्स्ड डिपाजिट पर 5.6 % ब्याज का ऑफर दे रहा है। इन आंकड़ों से ये मालूम चलता है की फिक्स्ड डपोस्ट मुनाफे का सौदा नहीं है। यानि आपको बचत के दूसरे तरीके खोजने होंगें तभी आप अपने लक्छ को पूरा कर सकते है।

अगर आपका नजरिया लम्बा है तो लॉकडाउन के बाद म्यूचल फंड में रिटर्न का ग्राफ बढ़ जायेगा। लम्बी अबधि में 12 से 15 % तक का रिटर्न मिल सकता है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल है की आप अच्छा म्यूचल फंड का चुनाव कैसे करें क्यूंकि निवेश के लिए सही कंपनियां चुनना अपने लाइफ पार्टर्नर चुनना जैसे है बाजार में हज़ारों कम्पनिया की स्कीम मौजूद है। आप कैसे अपने लिए सही चुनाव कर सकते है। आपके इसी समस्या आज हम हल करेंगें। तो सबसे पहले आपको तो ये तै करना है की आपका मकशद क्या है। आप कितना निवेश कर सकते है और कितने समय के लिए कर सकते है। अगर आपको साल दो साल के लिए करना है तो उसके लिए अलग म्यूचल फंड होंगे। और अगर आपको पांच से दस साल के लिए निवेश करना है तो उसके लिए अलग म्यूचल फंड होंगें मतलब साफ है की सही म्यूचल फंड का चुनाव इस बात पर निर्भर करता है की आपकी अबधि क्या है।

मिशाल के लिए अगर आप छोटी समय के लिए नवेश करना चाहते है तो आप डेट या लिक्विड फंड का चुनाव कर सकते है। वही आप लम्बी अबधि के लिए निवेश करना चाहते है तो आपके लिए इक्विटी म्यूचल फंड चुन सकते है। एक बार जब आप नवेश की अबधि तै कर ली तो आप फैशला कर सकते है की आप कितना जोखिम ले सकते है। याद रखिये जयादा रिटर्न के लिए जयादा रिस्क लेना पड़ता है। लेकिन निवेश में सिर्फ रिटर्न महत्वपूर्ण नहीं है इसमें आपके द्वारा लगाई गई पूंजी भी सुरछा की भी मायने रखती है।

This Post Has One Comment

Leave a Reply