कोरोना संकट के बिच कम्पनी ने शुरू की हायरिंग

देश में कोरोना वायरस का संकट रोजगार बाजार पर साफ़ दिख रहा है और जहा एक तरफ कुछ कम्पनी ने नई हाइरिंग टाल दी है वही कुछ सेक्टर ऐसे भी है जहाँ हाइरिंग बढ़ने और कारोबार में तेजी दिख रही है।

एक सर्वे के मुताबिक पिछले कुछ दिनों में पिछले महीने की तुलना में हाइरिंग में तेजी दर्ज की गई है। जिसके हिसाब से ईकॉमर्स, डाटा प्रोसेसिंग सप्लाई चेन, मैनेजमेंट, बैंकिंग, FMCG, हेल्थ केयर, इंस्युरेन्स, डिजिटल एक्सपर्ट और फार्मा कम्पनी में एक बार फिर से हैरिंग सुरु हो गई है। इसके पहले लॉकडाउन में सारी कंपनियों ने हाइरिन को या तो फ्रिज कर दिया था या टाल दिया था। लेकिन अब हालत सुधरने लगे है और कम्पनी भी अपना कारोबार बढ़ाना चाह रही है जिसके कारन हायरिंग बढ़ने की उम्मीद है।

वही आकड़ों में देखा जाये तो रिक्रूटमेंट में लगभग 80% की गिराबट देखी गई है। हाला की अभी भी पर्याटन जैसे सेक्टर में कुछ खास रहत नहीं दिख रही है। लेकिन टेलिकॉम और मैनुफैक्चरिंग जैसे सेक्टर में कुछ रहत देखि जा सकती है। कोरोना संकट में पहले की हायरिंग और अब की हायरिंग में कुछ बदलाब जरूर देखने को मिल सकता है। जैसे कुछ सेक्टर में पहले के मुताबिक सैलरी और सैलरी इन्क्रीमेंट में कुछ बदलाब देखने को मिल सकता है। लेकिन ये बदलाब सिर्फ कुछ सेक्टर में ही दिखने की सम्भाबना है कोरोना वायरस संकट के पहले नौकरी छोड़ कर दूसरे कंपनी में जाने से 20-30 % तक की सैलरी की बढ़ोतरी होती थी। लेकिन रोजगार कम होने के कारन अब इसमें कुछ गिराबट होने की सम्भाबना है।

कुछ रिपोर्ट्स में तो इस साल हायरिंग रुकने की भी बात मानी है लेकिन कुछ Business ऐसे भी है जहा अब भी मांग है और आने वाले समय में मांग बढ़ भी सकती है। कोरोना ने कारोबार और प्राइवेट सेक्टर पर काफी असर डाला है ऐसे में कोरोना के साथ ही कारोबार की रिकवरी भी काफी जरुरी है और ऐसा सरकार के सही दिशा में प्रयासों से ही सम्भब है। छोटे बड़े कारोबार को सपोर्ट कर के ही धीरे धीरे ही अर्थवय्वस्था को सहारा दिया जा सकता है।

Leave a Reply