जदयू में शामिल होने के लिए लिखित परीक्षा पास करना जरुरी, पढ़ें जरुरी खबर

जब से प्रशांत किशोर जदयू में शामिल हुए है तब प्रशांत किशोर हर वक्त कुछ न कुछ नया प्रयोग अपने पार्टी के करते रहते है ताकि जदयू का जयादा से जयादा जनाधार बढ़ाया जा सकते, जैसे ऑनलाइन फॉर्म भरवाकर नए युवाओ को जोड़ने की कोसिस शामिल है लेकिन अब एक बिलकुल नया तरीका आजमाने जा रहे है जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष यानि प्रशांत किशोर और ये नया तरीका लोगो को खूब रास भी आ रहा है दरअसल प्रशांत किशोर का नया तरीका है की अब लिखित परीक्षा और इंटरव्यू की बदौलत में बिहार में पहली बार युवाओं की होगी भर्ती,

लखनऊ में मिल रहे है सोने की मिठाई 50000 रुपये किलो, और चांदी के पटाखे 25 हज़ार के। …

2020 के विधानसभा चुनावों में इनमें से कई युवाओं को दिया जाएगा पार्टी का टिकट, दावा है कि अब तक 30 हजार से अधिक युवाओं ने राजनीति में जुड़ने की इच्छा दिखाई। पार्टी का दावा है कि पूरे देश में युवाओं को सक्रिय राजनीति में लाने की ऐसी पहल अब तक नहीं की गई है। यह भी दावा किया जा रहा है कि राज्य में पार्टी का अगला नेतृत्व इन्हीं चयनित युवाओं को दिया जाएगा और 2020 के विधानसभा में इनमें से कई युवा टिकट पाने के हकदार होंगे।

esabnews.com

सूत्रों के अनुसार पार्टी में नए मेंबर बनने में कमी आने के रुख से चिंतित पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार ने उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को इस मोर्चे पर काम करने का पहला टास्क दिया। पार्टी संगठन के स्तर पर राज्य में आरजेडी और बीजेपी के मुकाबले कमजोर साबित होती रही है। इसी स्थिति से मुकाबले के लिए संगठन का विस्तार करने के लिए इस तरह का प्रयोग किया गया है। नए मेंबर बनाने के लिए पार्टी ने प्रशांत किशोर के नेतृत्व में एक टीम बनाई है। इसके लिए एक टेलिफोन लाइन भी चालू की गई है। अगर कोई पार्टी से जुड़ना चाहता है तो वह फोन कर समय ले सकता है। इसके बाद उसे पटना आना होगा, जिसमें उसकी राजनीतिक समझ और झुकाव जानने के लिए एक प्रश्नावली वाला फॉर्म भरना होता है। इस फॉर्म को पढ़ने के बाद इनमें से युवाओं को शॉर्ट लिस्ट किया जाएगा। इन युवाओं की प्रशांत किशोर से अकेले मीटिंग तय होगी। प्रशांत किशोर से साथ डायरेक्टर इंटरव्यू के बाद अगर युवा का चयन हो गया तो फिर उन्हें पार्टी में जिम्मेदारी दी जा सकती है।

%d bloggers like this: